Latest news
सांसद चंद्र प्रकाश व विधायक ढुलू ने हरि झंडी दिखाकर इंटरसिटी ट्रेन को कतरास से किया रवाना बाघमारा से जनरेटर चोरी के मामले को पुलिस ने किया उद्धभेदन धनबाद-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन का 9 नवंबर से कतरास में ठहराव जनता की जीत: विधायक मथुरा तिरुपति मंदिर के ट्रस्ट ने मन्दिर के सम्पत्ति की की घोषणा बिहार के एक बुर्जुग ने जीवित रहते किया अपना श्राद्ध और बरसी पंजाब में पराली जलाने की घटना में आई बढ़ोतरी : आई सी ए आर बाघमारा के मधुबन में वर्चस्व को लेकर दो पक्षों में खूनी खेल तंजानिया में यात्री विमान के लेक विक्टोरिया में गिरने से 19 लोगों की हुई मौत सामूहिक विवाह कार्यक्रम 'पापा नी परी लगनोत्सव' में मोदी ने नव दंपतियों को दी आशीर्वाद रायबरेली में महिला सफाईकर्मियों से करवाया नए एसी डिब्बों का उद्घाटन

गुजरात के मोरबी पुल के टेंडर प्रक्रिया में हुये नये खुलासा

0
fastlive news

 

अहमदाबाद : गुजरात के मोरबी सस्पेंशन ब्रिज हादसे का एक और खुलासा सामने आया है। इस खुलासे में इस बात की जानकारी सामने आया है कि पुल की मरम्मत का काम ओरेवा कंपनी को बिना टेंडर का ही दे दिया गया था। इस बात का खुलासा तब हुआ जब गुजरात पुलिस ने अपने एफिडेविट में कोर्ट को अपनी जांच रिपोर्ट सौपी। कोर्ट को दिए गए जांच रिपोर्ट में कहा गया है कि नगर पालिका ने सीधे-सीधे कंपनी से पुल की मरम्मत का कॉन्ट्रैक्ट कर लिया था। जो नियम नही था। उस पुल की केबल काफी पुरानी होने के कारण उसे बदले जाने की टेंडर जारी किया जाना था। लेकिन वहां की नगर पालिका के अधिकारियों ने सोंची समझी साजिश के तहत ईद पल का मरम्मत अपने कर्मियों के माध्यम से ही करवा लिया। इस काम मे भी हुआ यह कि अधिकारियों ने पल के लकड़ी के बेस को बदलकर एल्युमिनियम की चार लेयर वाली चादरें पुल में लगा दी। जिससे पल का वजन बढ़ गया और अचानक इतनी बड़ी घटना घटी की 200 से अधिक लोग नदी में समां गए। जिसमे 100 से अधिक लोगों की मौत हो गई। ससे पुल का वजन बढ़ गया।

Share.

About Author

Leave A Reply

Translate »
error: Content is protected !!