Latest news
बड़ा पाण्डेयडीह में मॉर्डन पारा मेडिकल ट्रेनिंग सेंटर का शुभारंभ बागड़ा पंचायत में झारखंडी भाषा खतियान संघर्ष समिति का विस्तार किया गया सशिवि मंदिर बाघमारा के पूर्व छात्र ने सांझा किए अपने अनुभव, सकारात्मक सोच रखने की दी सलाह झारखंड के सीएम चंपई सोरेन ने लिया एक बड़ा फैसला INDI गठबंधन और कांग्रेस पर अमित शाह ने हमला बोला नवजोत सिंह सिद्धू किसी भी समय भाजपा में हो सकते है शामिल भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक पीएम मोदी ने विद्यासागर जी महाराज के निधन पर दुःख जताया पुर्तगाल के प्रधानमंत्री एंटोनियो ने दिया इस्तीफा ट्रेलर गाड़ी निचितपुर रेल फाटक में फसी, लोहे को बेरियर को भी तोड़ा

खूंटी में ढुकु महिलाओं का सामुदायिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन

0
fastlive news

Khunti : नारी सशक्तिकरण, स्वास्थ्य, शिक्षा एवं स्वच्छता के विकास की दिशा में कार्यरत स्वयं सेवी संस्था निमीता रांची के तत्वावधान में नगर भवन खूंटी में ढुकु महिलाओं का सामुदायिक विवाह कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान वर्षों से लिव इन रिलेशनशीप में रह रहे अलग-अलग धर्मावलंबियों के 50 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे। इसके साथ ही अब उन्हें गांव में सामाजिक मान्यता प्राप्त हो गया।
मौके पर पहुंचे उपायुक्त शशि रंजन एवं उप विकास आयुक्त, खूंटी नीतीश कुमार सिंह सहित अन्य गणमान्य लोगों द्वारा वर-बधू के सुखमय दाम्पत्य जीवन की कामना की गई। साथ ही नव दम्पतियों के बीच तोहफा के रुप में गृहस्थ जीवन में उपयोग में आने वाली सामग्रियों का वितरण किया गया।
इस वैवाहिक कार्यक्रम में सभी जोड़ो को उनके परंपरा व रीति- रिवाज के अनुसार विवाह कराया गया। कार्यक्रम के दौरान उपायुक्त, शशि रंजन ने कहा कि गांव में “लिव इन रिलेशन” में रहने वाले हजारों परिवारों के लिए कार्यक्रम उम्मीदों भरा है जो जिंदगी भर बिना विवाह के अनिश्चितता और सुरक्षा के अंधेरे में जीने को विवश थे। इस पहल से उनके जीवन में रोशनी आयी है और उम्मीदों का सफर भी शुरु हुआ है ताकि आने वाले दिनों में इस कुप्रथा को जड़ से समाप्त किया जा सके। साथ ही सामाजिक परिवर्तन से इन्हें पूर्ण रूप से सम्मान दिलाया जा सके। उन्होंने कहा कि इन नवविवाहित जोड़ों को जिला प्रशासन की ओर से सभी कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने का प्रयास है। साथ ही इनका विवाह निबंधन भी सुनिश्चित कराया जाएगा। नव विवाहित जोड़ों को आने वाले दिनों में रजिस्टर्ड विवाह प्रमाण पत्र भी उपलब्ध कराया जाएगा। स्वयं सेवी संस्था निमीता, रांची की सचिव डाॅ निकीता सिन्हा ने बताया दूरवर्ती क्षेत्रों में आदिवासी समाज के बिना शादी किये पति-पत्नी के रुप में रहा करते हैं। पर, परिणय सूत्र में नहीं बंधने की वजह से समाज में इनकी सामाजिक मान्यता नहीं रहती है। ऐसे दम्पतियों को गांव के सामाजिक कार्यों व अन्य परंपरा में शामिल नहीं किया जाता है। अब विवाहित हो जाने के बाद उन्हें सामाजिक मान्यता प्राप्त होगी। ढुकु महिलाओं का सामुदायिक विवाह कार्यक्रम में झारखंड चैम्बर ऑफ काॅमर्स, रांची के अध्यक्ष श्री किशोर मंत्री, उपाध्यक्ष आदित्स मलहोत्रा, उप समिति अध्यक्ष अनीस सिंह, श्री ओपी लाल, श्री बीके सिंह, धीरज कुमार, प्रतिनिधि एवं अन्य लोग मौजूद थे।

Share.

About Author

Leave A Reply

Translate »
error: Content is protected !!