Latest news
दिव्यांगता प्रमाण पत्र के लिए उपायुक्त ने सभी प्रखंडों में तिथिवार शिविर लगाने का दिया निर्देश कांके एवं तमाड़ अंचल क्षेत्र में स्वास्थ्य उपकेंद्र निर्माण को लेकर दी गई स्वीकृति नाई समाज की ओर से अखंड हरि कीर्तन का आयोजन झारखंड के तीव्र विकास से विपक्ष‍ियों के पेट में दर्द हो रहा है : सीएम हेमंत सोरेन सरस्वती शिशु विद्या मंदिर बाघमारा में रविदास जयंती संपन्न उत्तर पूर्वी राज्यों के छात्रों ने उपायुक्त से जाना धनबाद का इतिहास मुख्यमंत्री पशुधन योजना पर जमशेदपुर में समीक्षात्मक बैठक जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने 9 पीडीएस दुकानदारों पर किया कर्रवाई डीआरडीए निदेशक ने किया मनरेगा योजनाओं की समीक्षा बैठक झारखण्ड राज्य पत्रकार स्वास्थ्य बीमा योजना की अंतिम आवेदन तिथि 5 फरवरी

इस बात पर ग्रामीणों ने ई सी एल परियोजना में किया विरोध प्रदर्शन

0
fastlive news

Godda: ई सी एल परियोजना के विस्तार के लिए पूर्व में अधिगृहित की गई भूमि पर ECL द्वारा कार्य किये जाने के दौरान महगामा खनन क्षेत्र के स्थानीय ग्रामीणों द्वारा विरोध किए जाने का मामला सामने आया। ई सी एल परियोजना के अधिकारी द्वारा सूचना किए जाने के बाद जिला प्रशासन ने विरोध स्थल पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दी है। जिला अनुमंडल पदाधिकारी, महागामा द्वारा जिला प्रशासन के अधिकारियों एवं पुलिस बलों की मौजूदगी में ECL के द्वारा पूर्व में अधिगृहित की गई भूमि पर कराये जा रहे कार्य के दौरान विधि-व्यवस्था का संधारण करते हुए आवश्यक सहयोग प्रदान किया गया । अनुमंडल पदाधिकारी महागामा द्वारा स्थानीय ग्रामीणों से बातचीत की गई और उन्हें बताया गया कि अधिगृहित भूमि के एवज में ग्रामीणों को सीबीए (अधिग्रहण एवं विकास) कानून के तहत् उचित मुआवजा / नौकरी इत्यादि सुविधाएं प्रदान की गई हैं।इस संदर्भ में जिला प्रशासन ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर सभी संबंधित ग्रामवासियों व जिलेवासियों को सूचित कर कहा है कि उक्त कार्रवाई के क्रम में किसी भी ग्रामवासी को उनके जमीन से हटाने या गांव खाली कराए जाने संबंधी किसी भी प्रकार के अफवाह या भ्रामक खबर पर ध्यान नहीं दें । और ECL जैसी महत्वपूर्ण परियोजना के लिए भूमि अधिग्रहण को सुगम बनाने में सहयोग प्रदान करें। वहीं इस संबंध में किसी भी तरह के भ्रामक एवं शांति व्यवस्था भंग करने की संभावना वाले खबर को प्रसारित करने वाले समाचार माध्यामों पर जिला प्रशासन द्वारा विधिसंगत कार्रवाई करने की भी बात कही है।
:: सोशल मीडिया पर खबर सामने आने पर ग्रामीण भड़के
ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन को लेकर कहा जा रहा है कि कुछ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एवं न्यूज पोर्टल के माध्यम से भ्रामक खबरों ग्रामीणों को उनकी भूमि से जबरन हटाया जा रहा है एवं गांव को खाली कराया जा रहा है। इसी ख़बर के
प्रसारण किए जाने के बाद ग्रामीण आक्रोशित हुए और आंदोलन पर उतर आए।

Share.

About Author

Leave A Reply

Translate »
error: Content is protected !!