Advertisement

किसी भी तरह की प्रतिस्पर्धा की आवश्यकता नहीं…

0

— आप जितने लोगों को चाहें उतने लोगों को प्रेम कर सकते हैं, इसका ये मतलब नहीं है कि आप एक दिन दिवालिया हो जायेंगे, और कहेंगे,” अब मेरे पास प्रेम नहीं है”, जहाँ तक प्रेम का सवाल है आप दिवालिया नहीं हो सकते.

— किसी से किसी भी तरह की प्रतिस्पर्धा की आवश्यकता नहीं है, आप स्वयं में जैसे हैं एकदम सही हैं. खुद को स्वीकारिये|

=ओशो =

Share.

About Author

Leave A Reply

Translate »
error: Content is protected !!