Latest news
खरखरी में मासस द्वारा एके राय का 86 वां जन्मदिवस मनाया गया बहियारडीह बस्ती में तेली सामज द्वारा दिवंगत छोटू महतो की पुण्यतिथि मनाई गई मुराईडीह में लायंस क्लब बाघमारा ने किया भूमि पूजन महुदा में सर्वधर्म प्रार्थना सभा में कोरोना के चपेट में आए मृतकों को दी गई श्रद्धांजलि चीन की विवादित BRI परियोजना के खिलाफ B3W योजना में भारत ने भी दिलचस्पी दिखाई राम जन्मभूमि को बदनाम करने के लिए कोई मौका नहीं छोड़ता विपक्ष: दिनेश शर्मा संस्कार ज्ञानपीठ विद्यालय में वर्चुअल समर कैम्प के दौरान फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता का आयोजन संस्कार ज्ञानपीठ विद्यालय में वर्चुअल समर कैम्प का आयोजन उप्र सिंधी अकादमी की पहल, अब बुजुर्ग भी गायेंगे गाना WHO चीफ की चीन को हिदायत, कोरोना के ऑरिजिन को लेकर चल रही जांच में सहयोग करे
Advertisement

पार्टी के साथ-साथ देश के भी शीर्ष नेता हैं नरेन्‍द्र मोदी: संजय राउत

0

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से हाल ही में दिल्ली में मुलाकात की थी। दोनों नेताओं की मुलाकात को लेकर शिवसेना सांसद संजय राउत ने बड़ा बयान दिया है।
संजय राउत ने गुरुवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश और बीजेपी के शीर्ष नेता हैं। दरअसल राउत से पूछा गया था कि मीडिया में खबरें आई हैं कि आरएसएस राज्यों के चुनावों में राज्य के नेताओं को चेहरे के रूप में पेश करने पर विचार कर रहा है। ऐसे में क्या उन्हें लगता है कि मोदी की लोकप्रियता कम हुई है।
इस सवाल पर राउत ने कहा, ‘मैं इस पर टिप्पणी नहीं करना चाहता…मैंने मीडिया में आईं खबरें नहीं देखी है। इस बारे में कोई आधिकारिक बयान भी नहीं आया है… पिछले सात साल में बीजेपी की सफलता का श्रेय मोदी को जाता है। वह अभी देश और अपनी पार्टी के शीर्ष नेता हैं।’ शिवसेना के राज्य सभा सदस्य राउत फिलहाल उत्तर महाराष्ट्र के दौरे पर हैं। उन्होंने जलगांव में पत्रकारों से यह बात कही। उन्होंने कहा कि शिवसेना का हमेशा से मानना रहा है कि प्रधानमंत्री पूरे देश के होते हैं, किसी एक पार्टी के नहीं।
‘बाघ के साथ कोई दोस्ती नहीं कर सकता’
राउत ने कहा कि लिहाजा, प्रधानमंत्री को चुनाव अभियान में शामिल नहीं होना चाहिए क्योंकि इससे आधिकारिक मशीनरी पर दबाव पड़ता है। हाल ही में महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा था कि अगर मोदी चाहें तो उनकी पार्टी बाघ (शिवसेना का चुनाव चिन्ह) से दोस्ती कर सकती है। इस पर राउत ने कहा, ‘बाघ के साथ कोई दोस्ती नहीं कर सकता। बाघ ही तय करता है कि उसे किसके साथ दोस्ती करनी है।
इस कारण उत्तर महाराष्ट्र के दौरे पर राउत
उत्तर महाराष्ट्र के दौरे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह संगठन को मजबूत करने के शिवसेना के प्रयासों का हिस्सा है। राउत ने कहा, ‘महा विकास आघाड़ी में शामिल सभी दलों को अपना आधार बढ़ाने और पार्टियों को मजबूत करने का अधिकार है। यह वक्त की जरूरत भी है। हम एक-दूसरे के साथ समन्वय को मजबूत करने के लिये बैठकें भी कर रहे हैं।
-एजेंसियां

Share.

About Author

Leave A Reply

Translate »
error: Content is protected !!