हीटवेव की चपेट में तीन महाद्वीप

0
fastlive news

एजेंसी : जुलाई 2023 मानव इतिहास का सबसे गर्म महीना के रूप में देखा जा रहा है। इस बात की पुष्टी ग्लोबल क्लाइमेट अथॉरिटीज के साइंटिस्ट्स ने की है।ग्लोबल क्लाइमेट अथॉरिटीज के साइंटिस्ट्स की माने तो एक लाख बीस हजार साल में इतनी गर्मी इस वर्ष के जुलाई माह को हुई है। इसके अलावा अगर अमेरिकी अंतरिक्ष केन्द्र नासा ने 2024 को लेकर जो जानकारी दी है उसमें नासा ने कहा है कि गर्मी के मामले में वर्ष 2024 में स्थिति इससे भी और ज्यादा भयावह हो सकती है। साइंटिस्ट्स की बातों पर यदि विश्वास की जाय तो लगातार तापमान में वृद्धि होने से तीन महाद्वीप-नॉर्थ अमेरिका, यूरोप और एशिया हीटवेव की चपेट में आ गया है। इस तरह फिलहाल
कई देशों में तापमान 50 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा पहुंच गया।

Share.

About Author

Leave A Reply

Translate »
error: Content is protected !!